आदिकाल की राजनीतिक परिस्थितियां।

सातवीं और आठवीं शताब्दी से 12वीं शताब्दी तक
उत्तल पुथल का युग माना जाता है।



.                              ( राजा हर्षवर्धन ) *हर्षवर्धन का साम्राज्य को भारत का अंतिम साम्राज्य माना जाता है।
*हर्षवर्धन की मृत्यु के बाद साम्राज्य लड़खड़ा गया।
*कासिम ने भारत पर सफल आक्रमण किया अरबों का प्रथम आक्रमण 712 ईस्वी में हुआ।
*भारत में अरबों का आक्रमण का मुख्य उद्देश्य धन लूटना और इस्लाम धर्म का प्रचार प्रसार करना था।

मोहम्मद गजनवी
*10 वीं शताब्दी में गजनी का राज्य जब मोहम्मद गजनी के हाथ में आया तो उसने भारत पर सफल आक्रमण किया 1001 इस वी में किया गया।
* गजनी ने भारत पर लगभग 17 बार आक्रमण किया।
गजनी ने 1008 ईस्वी में मूर्ति वाद के विरुद्ध में नगरकोट में आक्रमण किया।
*मोहम्मद गजनी ने मथुरा ,ग्वालियर ,सौराष्ट्र  , बनारस आदि मंदिरों को भी लूटा।
*मोहम्मद गजनी का सबसे चर्चित आक्रमण 1024 ईसवी में सौराष्ट्र मैं सोमनाथ मंदिर पर हुआ और नगरों को लूटा।




निष्कर्ष :-11 वीं से 12 वीं शताब्दी में राजाओं में एकता का अभाव था।
पर राजा हर्षवर्धन के बाद साम्राज्य लड़खड़ा गया और राजाओं के बीच लड़ाई का माहौल बन गया ।
अत: गजनी ने रुको को समाप्त कर मोहम्मद गौरी ने भारत पर आक्रमण किया।




मोहम्मद गोरी
* मोहम्मद गोरी एक कट्टर मुसलमान शासक थे उसने भारत पर प्रथम आक्रमण 1175 ईसवी में किया।
मोहम्मद गोरी ने दूसरा आक्रमण 1107 ईसवी में गुजरात पर किया यहां के शासक को भी मोहम्मद गोरी ने बुरी तरह हरा दिया।

1192 मैं पृथ्वीराज को भी पराजित किया और मुसलमानों का राज्य स्थापित किया इसका कारण था कि राजपूत में परस्पर फूड व पड़ोसी राज्यों के प्रति ईर्ष्या थी।

इस प्रकार संपूर्ण भारत में हिंदुओं की सत्ता समाप्त हो गई और मुसलमानों का राज्य स्थापित हो गया।
इसवी की आठवीं शताब्दी से 15 वी शताब्दी तक राजनीतिक दृष्टि से हिंदू की राज्य सत्ता धीरे-धीरे समाप्त हो गई और इस्लाम का धीरे-धीरे उदय होता गया।

इसका साहित्य पर प्रभाव:-
विदेशियों का आक्रमण पश्चिमी उत्तर मध्य भारत पर हुआ जिसका प्रभाव यहां की साहित्य पर भी पड़ा और साहित्य में उसका वर्णन हो पाया हम्मीर रासो, विजयपाल रासो ,पृथ्वीराज रासो ,परमाल रासो आदि ग्रंथ इसके प्रमाण हैं।













Oldest
loading...